थाना ईकोटेक प्रथम में तैनात सब इस्पेक्टर को पुलिस कमिश्नर ने क्यों किया बर्खास्त, जानिए क्या है पूरा मामला?

0
138

4 लाख की रिश्वत लेते हुए सब इंस्पेक्टर को एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार, 

रिटायर्ड नेवी कमांडर से सब इस्पेक्टर द्वारा मांगी गई थी रिश्वत, कमिश्नर ने किया बर्खास्त*

ग्रेटर नोएडा – थाना ईकोटेक-1 क्षेत्र में स्थित निर्माणाधीन केएमआर मॉल में हुई चोरी के मामले की तफ्तीश कर रहे सब इंस्पेक्टर गुलाब सिंह को शुक्रवार को एंटी करप्शन टीम ने 4 लाख की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। गुलाब सिंह पर आरोप है कि मॉल में हुई एक चोरी के मामले में नामदर्ज एक रिटायर्ड नेवी कमांडर का एफआईआर नाम हटाने के लिए 14 लाख की रिश्वत की मांग की गई थी और इसकी पहली किस्त लेते हुए एलजी गोल चक्कर से उन्हे एंटी करप्शन टीम ने गिरफ्तार कर लिया. वही गौतम बुध नगर की पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह ने सब इंस्पेक्टर गुलाब सिंह को तत्काल नौकरी से बर्खास्त कर दिया है और विभागीय जांच शुरू कर दी हैं।

आपको बता दें कि मेरठ से आई एंटी करप्शन टीम ने सूरजपुर कोतवाली में ट्रेनी सब इंस्पेक्टर गुलाब सिंह राजपूत के खिलाफ धारा 7 भ्रष्टाचार निवारण अधि0 1988 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है. दर्ज कराये गये मुकदमे के अनुसार ईकोटेक थाना-1 क्षेत्र में स्थित निर्माणाधीन केएमआर मॉल में 2019 में एक चोरी की घटना हुई थी इसमें माल प्रबंधन द्वारा चोरी का मुकदमा दर्ज कराते हुए ग्रेटर नोएडा में रहने वाले एक रिटायर नेवी कमांडर राजीव सरदाना पर शक जाहिर किया गया था. इस मामले में पुलिस विवेचना के बाद दो बार अंतिम रिपोर्ट लग चुकी है लेकिन 30 सितंबर 2022 न्यायालय के आदेश पर एक बार फिर की जांच शुरू हुई यह जांच एसआई गुलाब सिंह के पास थी और इस संबंध में राजीव अस्थाना से पूछताछ कर रहा था चोरी के मामले में उसको आरोपी बताते हुए इसका नाम एफआईआर हटाने के लिए 14 लाख रुपये रिश्वत की मांग की गई थी।

वही इस मामले का दूसरा पक्ष यह है कि राजीव सरदाना ने बिल्डर के खिलाफ शिकायत की थी जिसके कारण उस पर दवाब बनाने के लिए उसका नाम एफआईआर में डाला गया था. रिटायर नेवी कमांडर राजीव सरदाना ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन के अधिकारियों से कर दी। मिली शिकायत पर एंटी करप्शन टीम ने जाल बिछाकर 4 लाख की पहली किश्त रिश्वत के रुप लेते हुए सब इंस्पेक्टर को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। वही सब इंस्पेक्टर गुलाब सिंह राजपूत की गिरफ्तारी खबर फैलते ही पुलिस महकमे हडकंप मच गया। गिरफ्तार किए गए सब इंस्पेक्टर 2019 बैच के हैं और गौतम बुध नगर कमिश्नरी के थाना ईकोटेक प्रथम पर तैनात थे अभी उनकी ट्रेनिंग भी पूरी नहीं हुई थी. पुलिस कमिश्नर गौतम बुध नगर लक्ष्मी सिंह ने इस मामले में सब इंस्पेक्टर गुलाब सिंह को तत्काल बर्खास्त करने के आदेश दिए और मामले की जांच वह अपने स्तर पर करने की बात कही हैं उनका कहना है कि अन्य लोगों की संलिप्तता की भी जांच की जाएगी यदि कोई दोषी मिलता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।