आई एम एस नोएडा में प्लेसमेंट पर हुई सेमिनार, सेमिनार में छात्रों को क्या – क्या मिला सीखने को?

0
770
आईएमएस में प्लेसमेंट की तैयारी पर हुई सेमिनार।

सेमिनार के दौरान छात्रों को रिज्यूम बनाने कि सिखाई गई तकनीक।

नोएडा– इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (आईएमएस) नोएडा में प्लेसमेंट की तैयारी पर सेमिनार का आयोजन हुआ। मंगलवार को सेक्टर 62 स्थित संस्थान परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान आईआईएमए के एलुमनाई और राइजोप्रो के को-फाउंडर रोहन अग्रवाल एवं अतुल कुमार ने अपने विचार प्रकट किए। कार्यक्रम के दौरान छात्रों को रिज्यूम बनाने की तकनीक के बारे में विस्तृत चर्चा की गई।

आपको बता दें कि अहमदाबाद से आये आईएमएस नोएडा सीआरसी हेड राकेश जुयाल ने बताया कि आज के कार्यक्रम में वक्ताओं ने छात्रों को प्लेसमेंट की प्रक्रिया में रिज्यूम के महत्व की चर्चा की। साथ ही रिज्यूम बनाने की विविध तकनीक, सावधानी एवं शब्दों के चयन की पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के दौरान अतुल कुमार ने बताया कि जब भी कोई रिक्रूटर्स कैंपस प्लेसमेंट के लिए संस्थानों में आते हैं तो उनकी मानसिकता होती है कि वे कैंडिडेट्स को रिजेक्ट न करें, जिससे छात्रों के लिए कैंपस प्लेसमेंट क्रैक करना आसान हो जाता है।

इस कार्यक्रम के दौरान सी आर सी हैड रोहन अग्रवाल ने कहा कि छात्र को अपने रिज्यूमे बनाते समय 20-20 नियम को ध्यान में रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि रिक्रूटर्स मात्र 20 सेकेंड यह निर्णय ले लेते है कि कैंडिडेट को सेलेक्ट करना है कि नहीं अतः आप सभी से अनुरोध है कि अपने रिज्यूम बनाते समय कम से कम 20 घंटे का समय ले और निर्धारित करें कि आपको किस प्रकार रिज्यूम बनाना है।

वहीं कार्यक्रम के दौरान आईएमएस की निदेशिका डॉ0 कुलनीत सूरी ने कहा कि रिज्यूम प्लेसमेंट प्रक्रिया का सबसे प्रमुख हिस्सा है। उन्होंने कहा कि सफलता प्राप्ति के लिए संस्थान के सीआरसी विभाग विशेषज्ञों के माध्यम से छात्रों का मार्गदर्शन करते रहते हैं। हमें आशा है कि आज के मार्गदर्शन से छात्र अपने करियर के प्रति जिम्मेदारी समझकर निरंतर आगे बढ़ते रहेंगे।